Skip to content

सर्वनाम Pronoun

जो शब्द संज्ञा के स्थान पर प्रयुक्त होते हैं , उन्हें ‘ सर्वनाम ‘ कहते हैं ; जैसे — उन्हें , उन्होंने , तुम , हम , आप , यह , वे , वह उसका , उसके आदि । 

जब हम कुछ बोलते या लिखते हैं तब उस समय किसी नाम को बार – बार लिखना या बोलना अटपटा – सा लगता है । अत : हम वहाँ पर सर्वनाम शब्दों का प्रयोग करते हैं । सर्वनाम शब्दों के प्रयोग से भाषा सरल एवं प्रभावशाली बनती है । 

पढ़िए और समझिए : 

अजय दिल्ली में रहता है । 

उसकी आयु दस वर्ष है ।

वह रोज स्कूल जाता है । 

मैं अजय का मित्र हूँ ।

 उसके पिता एक अध्यापक हैं । 

विद्यालय वह उपर्युक्त वाक्यों में अजय संज्ञा है । पहले वाक्य में तो संज्ञा का प्रयोग हुआ है और अगले वाक्यों में संज्ञा के स्थान पर सर्वनामों का प्रयोग हुआ है ; जैसे — उसकी , वह , मैं , उसके , वह , उसका आदि । 

सर्वनाम के भेद ( Kinds of Pronoun )

सर्वनाम के निम्नलिखित छह भेद हैं

  • ( 1 ) पुरुषवाचक सर्वनाम ( Personal Pronoun )
  • ( 2 ) निश्चयवाचक सर्वनाम ( Definite Pronoun )
  • ( 3 ) अनिश्चयवाचक सर्वनाम ( Indefinite Pronoun ) 
  • ( 4 ) संबंधवाचक सर्वनाम ( Relative Pronoun )
  • ( 5 ) प्रश्नवाचक सर्वनाम ( Interrogative Pronoun )
  • ( 6 ) निजवाचक सर्वनाम ( Reflexive Pronoun )
  1. ( 1 ) पुरुषवाचक सर्वनाम ( Personal Pronoun ) — वह सर्वनाम शब्द जिनका प्रयोग बोलने वाला व्यक्ति अपने लिए सुनने वाले के लिए तथा किसी अन्य व्यक्ति के लिए करता है , उन्हें ‘ पुरुषवाचक सर्वनाम ‘ कहते हैं ; जैसे – मैं , तुम , आप , हम , हमें , वह , वे आदि । 

    पुरुषवाचक सर्वनाम के तीन भेद हैं 

     ( क ) उत्तम पुरुष

     ( ख ) मध्यम पुरुष

     ( ग ) अन्य पुरुष 

    ( क ) उत्तम पुरुषवाचक सर्वनाम ( First Person ) – बोलने वाला व्यक्ति जिन सर्वनाम शब्दों का प्रयोग अपने लिए करता है , उन्हें ‘ उत्तम पुरुषवाचक सर्वनाम ‘ कहते हैं ; जैसे — मैं , मेरा , हम , हमारा, हमे , मुझे , मुझको आदि ।

    ( ख ) मध्यम पुरुषवाचक सर्वनाम ( Second Person ) – बोलने वाला व्यक्ति जिन सर्वनाम शब्दों का प्रयोग सुनने वाले के लिए करता है , उन्हें ‘ मध्यम पुरुषवाचक सर्वनाम ‘ कहते हैं ; जैसे – तू , तुम , तुमने , तुमसे , तुम्हारा , आप , आपको , आपके आदि । 

    ( ग ) अन्य पुरुषवाचक सर्वनाम ( Third Person ) – जिन सर्वनाम शब्दों का प्रयोग बोलने वाला , लिखने वाला , पढ़ने वाला और सुनने वाला किसी अन्य व्यक्ति के लिए करता है , उन्हें ‘ अन्य पुरुषवाचक सर्वनाम ‘ कहते हैं ; जैसे – वह , वे , यह , ये , उनका , उन्होंने , उसे , उसका , उन्हें आदि । 

    ( 2 ) निश्चयवाचक सर्वनाम ( Definite Pronoun ) – जिन सर्वनाम शब्दों से निकट या दूर स्थित निश्चित वस्तुओं , व्यक्तियों या प्राणियों का बोध हो , उन्हें ‘ निश्चयवाचक सर्वनाम ‘ कहते हैं ; जैसे 

    ( क ) यह अमर का घर है । 

    ( ख ) वह दीपू है ।

     ( ग ) इन्होंने आपको बुलाया था । इन वाक्यों में यह , वह और इन्होंने निश्चयवाचक सर्वनाम हैं ।

     ( 3 ) अनिश्चयवाचक सर्वनाम ( Indefinite Pronoun ) — वे सर्वनाम शब्द जिनका प्रयोग किसी अनिश्चित व्यक्ति , वस्तु अथवा प्राणी आदि के लिए किया जाता है , उन्हें अनिश्चयवाचक सर्वनाम ‘ कहते हैं ; जैसे 

    ( क ) कोई रो रहा है । 

    ( ख ) किसी के साथ बाजार चले जाना ।

     ( ग ) घर जाकर कुछ खा लेना । इन वाक्यों में कोई , किसी और कुछ शब्द अनिश्चयवाचक सर्वनाम हैं ।

    ( 4 ) संबंधवाचक सर्वनाम ( Relative Pronoun ) – जो सर्वनाम शब्द वाक्य के दूसरे संज्ञा या सर्वनाम शब्दों से संबंध बताते हैं , उन्हें ‘ संबंधवाचक सर्वनाम ‘ कहते हैं ; जैसे 

    ( क ) जिसकी लाठी उसकी भैंस । 

    ( ख ) जो करेगा , सो भरेगा । 

    ( ग ) उतना खर्च करो जितना कमाओ । इन वाक्यों में जिसकी , उसकी , जो , सो , उतना , जितना शब्द संबंधवाचक सर्वनाम हैं । 

    ( 5 ) प्रश्नवाचक सर्वनाम ( Interrogative Pronoun ) – ऐसे सर्वनाम शब्द जिनका प्रयोग प्रश्न पूछने के लिए किया जाता है , उन्हें ‘ प्रश्नवाचक सर्वनाम ‘ कहते हैं ; जैसे 

    ( क ) दरवाजा कौन खटखटा रहा है ?

     ( ख ) तुम्हारे हाथ में क्या है ? 

    ( ग ) तुम्हें किसने बुलाया है ? इन वाक्यों में कौन , क्या , किसने प्रश्नवाचक सर्वनाम हैं । 

    ( 6 ) निजवाचक सर्वनाम ( Reflexive Pronoun ) – जिन सर्वनाम शब्दों का प्रयोग बोलने वाला अपने लिए करता है , उन्हें ‘ निजवाचक सर्वनाम ‘ कहते हैं ; जैसे 

    ( क ) मैं अपने आप ही चला जाऊँगा । 

    ( ख ) मैं यह काम स्वयं कर लूंगा । 

    ( ग ) वे खुद सामान खरीद लाएंगे । इन वाक्यों में अपने आप , स्वयं और खुद शब्द निजवाचक सर्वनाम हैं । ये शब्द कर्ता के लिए प्रयोग हो रहे हैं । 

    याद रखिए : ‘ आप ‘ शब्द का प्रयोग पुरुषवाचक सर्वनाम और निजवाचक सर्वनाम दोनों रूपों में होता है । 

सर्वनामों की रूप - रचना ( Transformation of Pronouns )

कारक – चिह्न जिस प्रकार संज्ञा शब्दों का रूप परिवर्तन करते हैं उसी प्रकार सर्वनामों के रूप में भी वचन और कारक के कारण विकार आ जाता है । 

याद रखिए : 1. सर्वनाम शब्दों पर लिंग का कोई प्रभाव नहीं पड़ता । जो प्रभाव वाक्य में दिखाई देता है वह क्रिया – शब्दो से स्पष्ट होता है । 

  1. सर्वनाम शब्दों की रूप – रचना में ‘ संबोधन ‘ नहीं होता ।
उत्तम पुरुषवाचक सर्वनाम – ' मैं
[wptb id="1864" not found ]
मध्यम पुरुषवाचक सर्वनाम – ' तू '
[wptb id="1868" not found ]
निश्चयवाचक सर्वनाम – ' यह '
[wptb id="1872" not found ]
अनिश्चयवाचक सर्वनाम - 'कोई'
[wptb id="1883" not found ]
प्रश्नवाचक सर्वनाम - 'कौन'
[wptb id="1885" not found ]
सम्बन्धवाचक सर्वनाम - 'जो'
[wptb id="1886" not found ]

” Dear Aspirants ” Rednotes आपकी तैयारी को आसान बनाने के लिए हर संभव कोशिश करने का पूरा प्रयास करती है। यहाँ पर आप भिन्न भिन्न प्रकार के टेस्ट दे सकते है जो सभी नए परीक्षा पैटर्न पर आधारित होते है। और यह टेस्ट आपकी तैयारी को और सुदृढ़ करने का काम करेगी। हमारे सभी टेस्ट निशुल्क है। अगर आपको हमारे द्वारा बनाये हुए टेस्ट अच्छे लगते है तो PLEASE इन्हे अपने दोस्तों, भाई, बहनो को जरूर share करे। आपको बहुत बहुत धन्यवाद।

  • NOTE :- अगर Mock Tests में किसी प्रकार की समस्या या कोई त्रुटि हो, तो आप हमे Comment करके जरूर बताइयेगा और हम आपके लिए टेस्ट सीरीज को और बेहतर कैसे बना सकते है इसलिए भी जरूर अपनी राय दे।

Share With Your Mates:-

Hindi

Maths

Reasoning

India GK

Computer

English

Rajasthan GK

NCERT

Rajasthan GK Test

India GK

Recent Test