Important 100+ Anekarthak shabd अनेकार्थक शब्द - Homonyms in Hindi : हिन्दी व्याकरण

हिंदी में कुछ शब्द ऐसे है, जिनके एक से अधिक अर्थ होते है। विभिन्न प्रसंग के वाक्यों में प्रयुक्त होकर वे अलग – अलग अर्थ देते है। ऐसे अनेकार्थक शब्द यहाँ दिए जा रहे है;

Anekarthak shabd ( अनेकार्थक शब्द )
  1. अंबर – आकाश, कपड़ा
  2. अदृष्ट – जो देखा न जाए, भाग्य, गुप्त, रहस्य।
  3. अक्षर – अविनाशी, वर्ण, ईश्वर, आत्मा, आकाश, धर्म, तप।
  4. अब्धि – सागर, समुद्र।
  5. अज – ब्रह्म, शिव, बकरा, दशरथ के पिता।
  6. अब्ज – चंद्रमा, कमल, शंख, कपूर।
  7. अंतर – हृदय, भेद, फर्क, व्यवधान, अवधि, अवसर।
  8. अंक – नाटक का सर्ग, परिच्छेदन, नंबर, चिह्न, गोद।
  9. अमर – ईश्वर, देवता, शाश्वत, आकाश और धरती के मध्य में।
  10. अधर – होंठ, नीचे, पराजित।
  11. अक्ष – रथ की धुरी, जुआ खेलना, पासा, रेखा, जो दोनों ध्रुवों को मिलाए।
  12. अर्थ – ऐश्वर्य, धन, हेतु, मतलब, प्रयोजन।
  13. अर्क – सूर्य, रस, आका का पौधा।
  14. अनंत – आकाश, जिसका अंत न हो, ईश्वर, शेषनाग।
  15. आली – सखी, पंक्ति।
  16. अलि – सखी, कोयल, भँवरा।
  17. अवधि – समय, सीमा।
  18. आदि – आरंभ, इत्यादि।
  19. उपचार – इलाज, उपाय।
  20. अरूण – हल्का लाल रंग, सूर्य का सारथी, प्रभात का सूर्य।
  21. अवकाश – छुट्टी, बीच के आराम का समय, मौका।
  22. अपवाद – निंदा, किसी नियम का विरोधी।
  23. अभिजात – पूज्य, उच्च कुल का, सुंदर।
  24. उत्तर – उत्तर दिशा, जवाब, पीछे।
  25. आम – (फलों का राजा) फल, साधारण, विख्यात।
  26. और – तथा, दूसरा, अधिक, योजक शब्द।
  27. कनक – धतूरा, सोना, गेहूँ।
  28. कर – हाथ, किरण, हाथी की सूँड़, टैक्स, करना, क्रिया।
  29. कर्ण – कान, पतवार, कुंती पुत्र कर्ण, त्रिभुज के समकोण के सामने की भुजा।
  30. कल – बीता दिन, आने वाला दिन, सुख, मशीन।
  31. काल – अवसर, समय, मृत्यु, यम, शनि, शिव।
  32. काम – कार्य, धंधा, कामदेव, इच्छा, शुक्र।
  33. कुल – वंश, सारा, सभी।
  34. कोश – कोष, खज़ाना, डिक्शनरी, म्यान, फूल का भीतरी भाग।
  35. गुण – विशेषता, रस्सी स्वभाव।
  36. गुरू – शिक्षक, श्रेष्ठ, बड़ा, भारी, दो मात्राएँ (छंद में)।
  37. ग्रहण – लेना, सूर्य ग्रहण, चंद्र ग्रहण, स्वीकार करना।
  38. गिरा – बोलने की शक्ति, जीभ, सरस्वती, वाणी।
  39. गौ – गाय, इंद्रिय, वाणी, पृथ्वी।
  40. घट – घड़ा, हृदय, कम, देह, पिंड।
  41. घन – बादल, घना, भारी।
  42. चक्र – अस्त्र, पहिया, गोल वस्तु, चक्कर, भँवर।
  43. चीर – रेखा, वस्त्र, चीरना, पट्टी।
  44. चपला – स्त्री, बिजली, लक्ष्मी, नटखट, चंचल।
  45. जवान – युवा, सैनिक, योद्धा।
  46. जीवन – जिंदगी, प्राण, जल, वृत्ति।
  47. जड़ – मूल, मूर्ख, सरदी से ठिठुरा, अचेतन।
  48. तीर – बाण, तीर का निशान, तट।
  49. तात – पिता, भाई, पूज्य, मित्र।
  50. तनु – शरीर, पतला, कम, कोमल।
  51. तम – अँधेरा, कालिख, अज्ञान, क्रोध, राहु, पाप।
  52. तप – तपस्या, साधना, अग्नि।
  53. तार – धातु का तार, तारघर से संदेश भेजना, तारना।
  54. तारा – आँख की पुतली, सितारा, महाराजा हरिश्चंद्र की पत्नी।
  55. दल – पत्ता, समूह, सेना, पक्ष।
  56. दक्षिण – दक्षिण दिशा, दाहिना, अनुकूल।
  57. दक्ष – कुशल, अग्नि, नदी, प्रजापति।
  58. द्विज – ब्राह्मण, पक्षी, दाँत, चंद्रमा।
  59. धन – पूँजी, द्रव्य।
  60. धारणा – बुद्धि, विचार, विश्वास।
  61. नाग – सर्प, हाथी, नागकेसर।
  62. नग – नगीना, पर्वत।
  63. नायक – मुख्यपात्र, नेता, मार्गदर्शक।
  64. पट – कपड़ा, दरवाज़ा, तख्ता।
  65. पत्र – पत्ता, चिट्ठी, पृष्ठ, पंख।
  66. पद – पैर, शब्द, छंद, पदवी, अधिकार, स्थान, भाग, गीत।
  67. पय – पानी, दूध।
  68. प्रकृति – स्वभाव, कुदरत, मूलावस्था।
  69. पतंग – सूर्य, कीट, आकाश में उड़ाई जाने वाली पतंग।
  70. पानी – चमक, जल, प्रतिष्ठा, जीवन।
  71. पोत – नाव, लड़का।
  72. पक्ष – पंख, बल, आधार, एक दल के लोग।
  73. प्रसाद – आशीर्वाद, कृपा, हर्ष।
  74. पयोधर – तालाब, नारियल, स्तन, बादल।
  75. पृष्ठ – कापी या पुस्तक का पन्ना, पीठ, पिछला भाग।
  76. पूर्व – पहले, पिछला, पुराना, एक दिशा।
  77. फल – फल, नतीजा, चीकू का फल।
  78. बल – शक्ति, सेना।
  79. भूत – प्रेत, बीता हुआ समय, पंचभूत, प्राणी।
  80. भृति – मज़दूरी, मूल्य, वेतन।
  81. भेद – राज़, प्रकार, फूट।
  82. भोग – भाग्य, खाना, सहना।
  83. मत – नहीं, राय, संप्रदाय।
  84. मधु – शराब, शहद, एक राक्षस, मधु ऋतु (वसंत)।
  85. मूल – जड़, आधार, असल धन।
  86. रस – जड़, निचोड़, खट्टा-मीठा आनंद।
  87. रश्मि – किरण, लगाम की रस्सी।
  88. वर – वरदान, दूल्हा, श्रेष्ठ।
  89. वर्ण – रंग, अक्षर, ब्राह्मण आदि चार वर्ण।
  90. वास – निवास, घर, सुगंध।
  91. वंश – गन्ना, बाँस, खानदान, समूह।
  92. विधि – रीति, ब्रह्मा, भाग्य, ईश्वर।
  93. सूर – सूर्य, सूरदास एक कवि, अंधा व्यक्ति, शूरवीर।
  94. सारंग – मोर, साँप, बादल, हिरण।
  95. निशाचर – राक्षस, उल्लू, चोर।
  96. स्नेह – प्रेम, तेल, चिकनाहट, कोमलता।
  97. श्रुति – वेद, कान।
  98. स्कंध – कंधा, पेड़ का तना, ग्रंथ का भाग।
  99. श्री – शोभा, लक्ष्मी, धनवैभव, संपत्ति।
  100. हरि – सूर्य, विष्णु, इंद्र, सिंह।
  101. हर – शिव, चुरा लेना।
  102. हल – खेत जोतने का यंत्र, समाधान, उत्तर।
  103. हंस – एक पक्षी, अश्व, ब्रह्मा, प्राणवायु, जीवात्मा।
  104. हार – फूलों की माला, हारना।
  105. कला – ढंग, उपाय, गुण, कला (आर्ट) विषय।
  106. कक्ष – कमरा, बगल।
  107. कक्षा – छात्रों की श्रेणी, समूह।
  108. कुंडल – कान की बाली, साँप का कुंडली मारकर बैठना।
  109. कुटिल – दुष्ट, घुंघराला, टेढ़ा।
  110. खग – पक्षी, आकाश।
  111. गण – छंद का अंग, समूह, भूत।
  112. गति – दशा, चाल।
  113. मित्र – साथी, सूर्य।
  114. रंग – प्रेम, दशा, वर्ण

Share With Your Mates:-

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on telegram
Telegram
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on email
Email